उत्तराखंड: रिजल्ट घोषित न होने से पोस्ट ग्रेजुएशन में दाखिला नहीं ले पाए आठ हजार छात्र

digamberbisht

एमए इकोनोमिक्स, एमए एजुकेशन, एमए इंगलिश, एमए ज्योग्राफी, एमए हिंदी, एमए जियो इंफोर्मेटिक्स, एमए हिस्ट्री, एमए होम साइंस, एमए मास कम्यूनिकेशन, एमए ज्योतिष, एमए मैथ्स, एमए पब्लिक एडमिन, एमए पॉलिटिकल साइंस, एमए साइकोलॉजी, एमए संस्कृत, एमए सोशियोलॉजी, एमए योगा, एमबीए, एमसीए, एमकॉम, एमएससी बॉटनी, एमएससी केमिस्ट्री, एमएससी साइबर सिक्योरिटी, एमएससी एनवायरमेंटल साइंस, एमएससी ज्योग्राफी, एमएससी जियो इंफोर्मेटिक्स, एमएससी इंफोर्मेशन टेकभनोलॉजी, एमएससी मैथ्स, एमएससी फिजिक्स, एमएससी जूलॉजी, एमएसडब्ल्यू और एमटीटीएम।

मेरे संज्ञान में है कि कई विवि के रिजल्ट न आने की वजह से करीब आठ हजार छात्र पोस्ट ग्रेजुएशन में दाखिला नहीं ले पाए हैं। विवि स्तर से यूजीसी को एडमिशन की डेट बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा जा रहा है। डेट बढ़ाने का फैसला यूजीसी ही करेगी।
-प्रो. पीडी पंत, परीक्षा नियंत्रक, मुक्त विवि

उत्तराखंड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

चौपाल: सुरक्षा का तकाजा

Hindi News चौपाल चौपाल: सुरक्षा का तकाजा इतिहास गवाह है कि सख्त कानूनों से सभी लोग सुधरें यह जरूरी नहीं। सांकेतिक तस्वीर। भारत में हर साल सड़क दुर्घटनाओं में लगभग डेढ़ लाख लोग मारे जाते हैं। बेवजह की इन मौतों पर लगाम लगाने के लिए ही नए मोटर वाहन अधिनियम में […]