नाबालिग बहनों से दुष्कर्म मामला: पोक्सो कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा, हाईकोर्ट ने किया दोषमुक्त

digamberbisht

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नैनीताल
Updated Wed, 06 Nov 2019 06:11 PM IST

ख़बर सुनें

उत्तराखंड के ऋषिकेश में दो नाबालिग बहनों से दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में पोक्सो कोर्ट ने सेवादार आरोपी परवान सिंह को फांसी की सजा सुनाई थी। लेकिन बुधवार को हाईकोर्ट ने सुनवाई के बाद साक्ष्य के अभाव में आरोपी को दोषमुक्त कर दिया। 

विज्ञापन

बता दें कि मामला 15 जून 2017 का है। ऋषिकेश की श्यामपुर पुलिस चौकी के पास नेपाली मूल की एक महिला दो बेटियों (13 व तीन साल) और नौ वर्षीय बेटे के साथ रहती थी। घटना वाले दिन महिला रोज की तरह घरों में कामकाज के लिए गई थी और बेटा ताई के यहां था।

बेटा करीब साढ़े ग्यारह बजे घर आया तो देखा कि बाहर से कुंडी लगी हुई थी। दरवाजा खोला तो देखा कि दोनों बहने पलंग पर बेसुध पड़ी थीं। उसने सामने स्थित गुरुद्वारे के सेवादार के फोन से मां को फोन किया, जिसके कुछ देर बाद वह वहां आ गई।

विज्ञापन

आगे पढ़ें

विज्ञापन

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

तांत्रिक के बहकावे में आई महिला, खजाने के लालच में खोद डाला पूरा घर, तस्वीरें हैरान कर देंगी...

हरिद्वार के ज्वालापुर के पीठ बाजार में नोएडा (गौतमबुद्धनगर) की एक महिला ने अपने घर में गड़ा खजाना ढूंढने की खातिर पूरे घर को ही खुदवा दिया। संदेह होने पर बुधवार को पड़ोसियों की सूचना पर जब ज्वालापुर पुलिस पहुंची तब यह हकीकत सामने आई। पुलिस ने सुरक्षा के लिहाज […]