अच्छी खबर: पदोन्नति वाले हजारों कर्मचारियों और शिक्षकों को सीधी भर्ती वालों के समान मिलेगा वेतन

digamberbisht

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून
Updated Wed, 06 Nov 2019 01:50 PM IST

ख़बर सुनें

छठे वेतन आयोग की संस्तुतियों के आधार पर सीधी भर्ती के तहत आने वाले कर्मियों से कम वेतन पाने वाले पदोन्नत शिक्षकों और कर्मियों को अब सीधी भर्ती के कार्मिकों के समान ही वेतन मिलेगा। प्रदेश सरकार ने यह निर्णय पहले चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के कार्मिकों के लिए ही लिया था। अब वित्त विभाग ने प्रदेश के सभी शिक्षकों और कार्मिकों को यह लाभ देने का आदेश जारी किया है। इस आदेश के जारी होने से सरकार पर करीब 150 करोड़ रुपये का अतिरिक्त व्ययभार आने का अनुमान है। 

विज्ञापन

वित्त विभाग के मुताबिक छठे वेतन आयोग की संस्तुतियों को लागू करते समय कई कार्मिक ऐसे रह गए जिनको पदोन्न्तियों का लाभ तो मिला, लेकिन उनका वेतन समान पदों पर सीधी भर्ती से पहुंचने वाले कार्मिकों से कम रह गया। यह मामला हाईकोर्ट में भी पहुंचा और इसके बाद सुप्रीम कोर्ट। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया कि पदोन्नत कर्मचारियों और शिक्षकों को भी सीधी भर्ती वाले कार्मिकों के समान वेतन दिया जाए।

प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आधार पर दिसंबर 2018 में चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के कार्मिकों के लिए यह आदेश जारी किया। यह आदेश इन विभागों में तो लागू हुआ, लेकिन अन्य विभागों के कार्मिक इस लाभ को पाने से वंचित रह गए।

विज्ञापन

आगे पढ़ें

विज्ञापन

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

राजस्थानः आखिर कब होगा भिखारियों का पुनर्वास

Hindi News राज्य राजस्थानः आखिर कब होगा भिखारियों का पुनर्वास प्रदेश में वर्ष 2012 में विधानसभा से पारित राजस्थान में भिखारियों या निर्धन व्यक्तियों का पुनर्वास अधिनियम बनाया गया था। इसके अनुसार पुनर्वास केंद्र खोले जाने थे, जहां भिखारियों व निर्धनों को लाकर स्वरोजगार प्रशिक्षण दिया जाना था। यह कानून […]