Ganesh Ji Ki Aarti, Mantra: संकष्टी चतुर्थी की पूजा भगवान गणेश की इस आरती को गाये बिना है अधूरी

digamberbisht

Sankashti Chaturthi Vrat, Ganesh Aarti, Mantra, Pooja: भगवान गणेश का एक नाम विघ्नहर्ता भी है यानि विघ्नों को हरने वाले देवता। इन्हें प्रसन्न करने के लिए पूजा के समय जय गणेश जय गणेश देवा (Jai Ganesh Jai Ganesh Deva Aarti In Hindi) आरती जरूर उतारें।

Ganesh Aarti: जय गणेश जय गणेश आरती देखें यहां।

Sankashti Chaturthi 2019, Ganpati Aarti: आज संकष्टी चतुर्थी व्रत है। इस दिन भगवान गणेश की विधि विधान के साथ पूजा की जाती है। वैसे तो प्रत्येक माह के कृष्ण और शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को ये दिन पड़ता है। लेकिन मार्गशीर्ष महीने में आने वाली ये चतुर्थी खास है। कहा जाता है कि जो व्यक्ति सच्चे मन से इस दिन व्रत रखकर भगवान गणेश को याद करता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। भगवान गणेश का एक नाम विघ्नहर्ता भी है यानि विघ्नों को हरने वाले देवता। आज भगवान गणेश की विधिवत पूजा कर इस आरती को उतारना न भूलें।

गणेश जी की आरती (Ganesh Ji Ki Aarti) :

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा।।

एकदंत, दयावन्त, चार भुजाधारी,
माथे सिन्दूर सोहे, मूस की सवारी।
पान चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा,
लड्डुअन का भोग लगे, सन्त करें सेवा।। ..
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा।।

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया,
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया।
‘सूर’ श्याम शरण आए, सफल कीजे सेवा।।
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा ..
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा।

दीनन की लाज रखो, शंभु सुतकारी।
कामना को पूर्ण करो जय बलिहारी।

[embedded content]

आज पूजा के बाद भगवान गणेश को तिल-गुड़ के लड्‍डू तथा मोदक का भोग लगाएं। ये बप्पा के प्रिय हैं। नैवेद्य के रूप में मोदक व ऋतु फल आदि अर्पित है। विधिवत तरीके से गणेश पूजा करने के बाद गणेश मंत्र ‘ऊं गणेशाय नम:’ अथवा ‘ऊं गं गणपतये नम: की 108 बार जाप करें। सायंकाल में व्रतधारी संकष्टी गणेश चतुर्थी की कथा जरूर पढ़े अथवा सुनें।

गणेश जी के मंत्र (Ganesh Mantra) : 

– ॐ ग्लौम गौरी पुत्र, वक्रतुंड, गणपति गुरू गणेश।
ग्लौम गणपति, ऋद्धि पति, सिद्धि पति। करों दूर क्लेश।।

– ॐ एकदन्ताय विद्महे वक्रतुंडाय धीमहि तन्नो बुदि्ध प्रचोदयात।।

– ॐ नमो गणपतये कुबेर येकद्रिको फट् स्वाहा।

– ‘ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।’

– ‘ॐ नमो हेरम्ब मद मोहित मम् संकटान निवारय-निवारय स्वाहा।’

– ‘ॐ श्रीं गं सौम्याय गणपतये वर वरद सर्वजनं में वशमानय स्वाहा’।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

<!–

–>

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

इश्‍क के जिस्‍म में रूह इंतकाम और लार्जर दैन लाइफ सिनेमा के दावे की हाईट है 'मरजावां'

रेटिंग 2.5/5 स्टारकास्ट रितेश देशमुख, सिद्धार्थ मल्होत्रा, तारा सुतारिया निर्देशक मिलाप झवेरी निर्माता निखिल आडवाणी, दिव्या खोसला कुमार, भूषण कुमार, कृष्ण कुमार म्यूजिक यो यो हनी सिंह, तनिष्क बागची, पायल देव, प्रशांत पिल्लई, मीत ब्रदर्स जोनर रोमांटिक एक्शन अवधि 136 मिनट बॉलीवुड डेस्क.लेखक निर्देशक मिलाप मिलन झावेरी की ‘मरजावां’ में […]