किसानों के लिए कल्याण योजना के लाभार्थियों में शिक्षा मंत्री का भी नाम

digamberbisht

इस घटना के सुर्खियों में आने के बाद मंत्री की तरफ से एक स्पष्टीकरण जारी किया है जिसमें कहा गया है कि उनका नाम सूची से हटा दिया गया है। मंत्री का कहना है कि “मुझे आज सुबह ही पता चला कि मेरा नाम रायथु भरोसा लाभार्थी सूची में है।

Author नई दिल्ली | Published on: October 12, 2019 10:22 PM
जगन मोहन रेड्डी सरकार किसानों के लिए 15 अक्टूबर को रायथु भरोसा कल्याण योजना शुरू करने जा रही है। (Facebook/Adimulapu Suresh)

जगन मोहन रेड्डी सरकार किसानों के लिए 15 अक्टूबर को रायथु भरोसा कल्याण योजना शुरू करने जा रही है। इस योजना से पहले सरकार की किरकिरी कराने वाली घटना सामने आई है। दरअसल, प्रकाशम जिले के गणपवरम गांव से योजना के लाभार्थियों की सूची में राज्य के शिक्षा मंत्री आदिमुलापु सुरेश का नाम भी शामिल है। इस घटना के सुर्खियों में आने के बाद मंत्री की तरफ से एक स्पष्टीकरण जारी किया है जिसमें कहा गया है कि उनका नाम सूची से हटा दिया गया है। मंत्री का कहना है कि “मुझे आज सुबह ही पता चला कि मेरा नाम रायथु भरोसा लाभार्थी सूची में है।

मैंने तुरंत इसे प्रकाशम जिला कृषि विभाग के अधिकारियों के ध्यान में लाया। उन्होंने कहा कि गलती इसलिए हुई क्योंकि सॉफ्टवेयर में जन प्रतिनिधियों के लिए कोई विकल्प नहीं था। YSR Rythu Bharosa योजना के तहत, भूमिधारक किसान परिवार, जो सामूहिक रूप से किसानी करने को विवश हैं उन्हें 12,500 रुपये का लाभ सालाना दिया जाएगा। इसमें पीएम किसान योजना के तहत मिलने वाले 6 हजार रुपए भी शामिल है। यह उन नौ प्रमुख कल्याणकारी योजनाओं में से एक थी, जिन्हें वाईएसआरसीपी के घोषणापत्र में उल्लेखित 9 प्रमुख वादों में इस योजना का भी वादा किया गया था। इन नौ वादों को नवरत्नालु कहा गया था।

सुरेश ने अपने बयान में यह भी कहा, ” रायथु भरोसा योजना किसानों के लाभ के लिए है। मैं एक किसान हूं, मेरी अपनी जमीनें हैं, लेकिन इस योजना को केवल उन लोगों को जाना चाहिए जो इसके लिए पात्र हैं। मैंने प्रकाशम जिला संयुक्त निदेशक को निर्देश दिया कि ऐसी खामियां दूर की जाएं और मैंने इसे कृषि मंत्री के संज्ञान में भी लाया है। ”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

<!–

–>

No posts found.
Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

तीरंदाज: दबी हुई चुप्पी

Hindi News रविवारीय स्तम्भ तीरंदाज: दबी हुई चुप्पी आधुनिक युग में शायद एक तरफ से कही गई बात को संवाद माना जाने लगा है। कहीं न कहीं दूसरे से हमारी अपेक्षा यह रहती है कि वह जुबान न खोले। सिर्फ सुने, बोले नहीं। बोलना सिर्फ अपराध नहीं, बल्कि सामाजिक पाप […]