अब कश्मीर घाटी का लुत्फ उठा सकेंगे पर्यटक, J&K गवर्नर ने गृह मंत्रालय की रोक हटाई

digamberbisht

इस परामर्श के कुछ दिन बाद पांच अगस्त को केंद्र ने संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त करने और जम्मू कश्मीर को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने की घोषणा की थी।

Author नई दिल्ली | Updated: October 7, 2019 11:27 PM
खूबसूरत डल झील और जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

खूबसूरत वादियों वाली कश्मीर घाटी का दीदार अब फिर से किया जा सकेगा। पर्यटक वहां घूमने-फिरने का लुत्फ उठा सकेंगे। ऐसा इसलिए, क्योंकि सोमवार (सात अक्टूबर, 2019) को जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पर्यटकों के लिए जारी सुरक्षा परामर्श वापस लेने का निर्देश दे दिया है। उन्होंने दो महीने से चले आ रहे उस परामर्श को वापस लेने का निर्देश दिया, जिसमें पर्यटकों को घाटी छोड़ने के लिए कहा गया था।

एक सरकारी प्रवक्ता के हवाले से बताया गया, ‘‘राज्यपाल ने निर्देश दिया कि पर्यटकों को घाटी छोड़कर चले जाने का गृह विभाग विभाग का परामर्श तत्काल वापस लिया जाए। ऐसा दस अक्टूबर को तत्काल प्रभाव से किया जाएगा।’’

जम्मू कश्मीर प्रशासन ने दो अगस्त को एक सुरक्षा परामर्श जारी कर कश्मीर घाटी में आतंकवादी हमले की आशंका का हवाला देते हुए अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों से यथाशीघ्र कश्मीर छोड़कर चले जाने को कहा था।

[embedded content]

इस परामर्श के कुछ दिन बाद पांच अगस्त को केंद्र ने संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त करने और जम्मू कश्मीर को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने की घोषणा की थी। प्रवक्ता ने बताया कि राज्यपाल ने यहां सलाहकारों और मुख्य सचिव के साथ ‘स्थिति सह सुरक्षा समीक्षा’ बैठक में यह निर्देश दिया।

पश्चिमी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ ने जम्मू की अग्रिम चौकियों का किया दौराः पश्चिमी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल आर पी सिंह ने सोमवार को जम्मू के ‘टाइगर डिविजन’ की अग्रिम चौकियों का निरीक्षण किया और अभियान संबंधी तैयारियों की समीक्षा की। एक रक्षा प्रवक्ता ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि जनरल ऑफिसर ने अग्रिम चौकियों पर तैनात सैनिकों से मुलाकात की और उच्च स्तर की सतर्कता बनाए रखने के लिए उनकी प्रशंसा की। प्रवक्ता ने बताया कि कमांडर ने सैनिकों को सतर्क रहने और देश पर मंडराने वाले बाहरी खतरों को लेकर हमेशा सजग रहने को कहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

<!–

–>

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

संपादकीय: वायुसेना की ताकत

Hindi News संपादकीय संपादकीय: वायुसेना की ताकत भारत को आज अपने पड़ोसी देशों पाकिस्तान और चीन से जिस तरह की सामरिक चुनौतियां मिल रही हैं और एशियाई क्षेत्र में जैसा शक्ति संतुलन बन रहा है, उसे देखते हुए वायुसेना का आधुनिकीकरण अपरिहार्य हो गया है। राफेल फाइटर जेट (फोटो- एक्सप्रेस फाइल) […]