Dussehra 2019: तीन पीढ़ियों से रावण के पुतले बना रहा यह मुस्लिम परिवार, बोला- हमें तो दोनों धर्मों में अंतर नहीं दिखता

digamberbisht

Dussehra (Vijayadashami) 2019: विशाल पुतलों के निर्माण का काम ज्यादातर हिंदू समुदाय के कारीगरों को सौंपा जाता है, लेकिन मथुरा का एक मुस्लिम व्यक्ति और उनका परिवार पिछली तीन पीढ़ियों से रावण के पुतले का निर्माण कर रहा है।

फोटो सोर्स- ANI

Dussehra 2019: दशहरा देश भर में बुराई पर अच्छाई की विजय के विभिन्न किस्सों के आधार पर मनाया जाता है। दिलचस्प बात यह है कि भारत के विभिन्न हिस्सों में दशहरा अलग-अलग कारणों से मनाया जाता है। देश में दशहरा या विजयादशमी आश्विन महीने के 10वें दिन मना जाता है, कई लोग इसे देवी दुर्गा की दुष्ट राक्षस महिषासुर पर जीत के उपलक्ष्य मनाते हैं। वहीं, देश के दूसरे हिस्से में दशहरा उस दिन के रूप में मनाया जाता है जब भगवान राम ने अपनी पत्नी देवी सीता को मुक्त करने के लिए नौ दिनों की लंबी लड़ाई के बाद राम ने रावण का वध करके विजय हासिल की थी। देश भर में लोग रावण, उसके बेटे मेघनाद और भाई कुंभकर्ण के पुतलों को जला कर खुशी मनाते है।

मथुरा में मुस्लिम परिवार तीन पीढ़ियों से बना रहा है रावण का पुतला: इन विशाल पुतलों के निर्माण का काम ज्यादातर हिंदू समुदाय के कारीगरों को सौंपा जाता है, लेकिन मथुरा का एक मुस्लिम व्यक्ति और उनका परिवार पिछली तीन पीढ़ियों से रावण के पुतले का निर्माण कर रहा है। देश में सांप्रदायिक सौहार्द और भाईचारे के सच्चे प्रतीक जफर अली से समाचार एजेंसी एएनआई ने मुलाकात की।

National Hindi News, 7 October 2019 Top Headlines LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

हिंदू-मुस्लिम एकता का संदेश है: अली ने एएनआई को बताया कि हमारा परिवार रावण का पुतला तीन पीढ़ियों से बना रहा है। हम इसे हिंदू-मुस्लिम एकता दिखाने के लिए करते हैं। हम मुस्लिम हैं लेकिन हम ऐसा करते हैं, ताकि लोगों को यह संदेश दे सके कि हिंदू-मुस्लिम में कोई भेद नहीं है।

अली ने 100 फीट का पुतला तैयार किया है: अली ने समाचार एजेंसी को बताया कि इस बार रावण का 100 फीट का पुतला तैयार किया है, जिसे 8 अक्टूबर को शहर के रामलीला मैदान के पास जलाया जाएगा। आमिर जो अली का समर्थन करता है उसने बताया कि पुतला बनाना उसका धर्म है और वह हिंदुओं और मुसलमानों के बीच कोई अंतर नहीं देखता है।

[embedded content]

आमिर ने कहा कि यह काम हमारा धर्म है। मेरे पिता भी रावण का पुतला बनाते थे। पिछले 40 सालों से मैं यह काम कर रहा हूं। देश के नेता अपने फायदे के लिए लोगों को धर्म के नाम पर बांटते हैं। हमारे लिए हिंदू और मुसलमान सब एक समान है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

<!–

–>

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

अब कश्मीर घाटी का लुत्फ उठा सकेंगे पर्यटक, J&K गवर्नर ने गृह मंत्रालय की रोक हटाई

Hindi News राष्ट्रीय अब कश्मीर घाटी का लुत्फ उठा सकेंगे पर्यटक, J&K गवर्नर ने गृह मंत्रालय की रोक हटाई इस परामर्श के कुछ दिन बाद पांच अगस्त को केंद्र ने संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त करने और जम्मू कश्मीर को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने की घोषणा […]