गुजरात के बड़े तेल कारोबारी का बेटा हो गया था लापता, शिमला में होटल में बर्तन धोते मिला

digamberbisht

द्वारकेश 14 अक्टूबर को घर से हमेशा की तरह ही कॉलेज के लिए निकला था। इस दौरान उसने परिवार से कहा था कि वह कॉलेज जा रहा है। पुलिस तहकीकात में सामने आया है कि न तो उसे अपना कॉलेज पसंद था और न ही पढ़ना।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

बीते कुछ दिन से लापता गुजरात के वडोदरा स्थित एक बड़े तेल कारोबारी का बेटा शिमला के एक होटल में बर्तन धोते हुए मिला। 19 वर्षीय द्वारकेश ठक्कर खुद की काबिलियत को साबित करने घर से भागा। गुजरात पुलिस कई दिनों से उसे ढूंढ रही थी। वसाड के इंजीनियरिंग कॉलेज का छात्र द्वारकेश 14 अक्टूबर को घर से हमेशा की तरह ही कॉलेज के लिए निकला था। इस दौरान उसने परिवार से कहा था कि वह कॉलेज जा रहा है। पुलिस तहकीकात में सामने आया है कि न तो उसे अपना कॉलेज पसंद था और न ही पढ़ना। इस वजह से वसाड न जाकर वह वडोदरा रेलवे स्टेशन की तरफ निकल पड़ा। यहां से द्वारकेश ने दिल्ली का रुख किया जिसके बाद वह लापता हो गया।

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक खबर के मुताबिक माता-पिता उसे ढूंढते रहे लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी। इस दौरान पुलिस अपना काम करती रही। पुलिस ने गुजरात और मुंबई में उसकी लोकेशन का पता लगाया। एक पुलिस अधिकारी ने बताया ‘लड़के ने अपना मोबाइल फोन घर पर ही छोड़ दिया था। हमने वडोदरा रेलवे स्टेशन की सीसीटीवी फुटेज खंगाली और उस ऑटो रिक्शा वाले का बयान दर्ज किया जिसने उसे वडोदरा सिटी के अक्षर चौक तक छोड़ा था।’

पुलिस के लिए द्वारकेश को ढूंढना हर दिन के साथ मुश्किल होता जा रहा था लेकिन सोमवार को शिमला के एक होटल मैनेजर के फोन कॉल ने केस को मिनटों में सुलझा दिया। दरअसल शिमला के होटल में बर्तन धोकर अपना गुजारा कर रहे द्वारकेष नई जॉब की तलाश में एक होटल में नौकरी मांगने पहुंचा था। मैनेजर की नजर जब उसपर पड़ी तो उन्होंने पाडरा पुलिस स्टेशन पर कॉल कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने पुलिस से कहा कि वह बच्चे का बैकग्राउंड चेक करें।

केस की जांच रहे पुलिस अधिकारियों को जैसे ही मैनेजर की सूचना मिली शिमला में परिवार के साथ घुमने गए दो कांस्टेबल को तुरंत लोकेशन पर जाने के लिए कहा गया। हालांकि द्वारकेष तब तक होटल से जा चुका था। कांस्टेबल ने मैनेजर से पूछा तो उन्होंने बताया कि बच्चे ने जानकारी दी थी कि वह हाइवे पर किसी होटल में काम करता है।

[embedded content]

इसके बाद दोनों कांस्टेबल ने इलाके के सभी होटल और टैक्सी ड्राइवर से संपर्क किया। इस दौरान सोमवार को एक टैक्सी ड्राइवर का फोन आया और जिसने सूचना दी कि एक बच्चा शिमला टाउन में सड़क किनारे सो रहा है। इसके बाद दोनों मौके पर पहुंचे और द्वारकेष को ढूंढ लिया गया। इसके बाद उसे परिवार को सौंप दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

<!–

–>

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

Malaika Arora संग बेटे की तस्वीर पर कमेंट कर बुरी फंसी रंगोली, पोस्ट हटाने की मांग कर रहे फैंस

Hindi News मनोरंजन Malaika Arora संग बेटे की तस्वीर पर कमेंट कर बुरी फंसी रंगोली, पोस्ट हटाने की मांग कर रहे फैंस Malaika Arora, Rangoli Chandel: इस फोटो को देख कर कंगना रनौत की बहन ने रिएक्ट करते हुए इसका स्क्रीन शॉट निकाला और ट्विटर पर पोस्ट कर दिया। साथ ही […]