ये रहीं आपकी सफलता की सीढ़ियां

digamberbisht

आपका लक्ष्य जितना ऊंचा होगा, उसको प्राप्त करने के मार्ग में उतनी ही अधिक चुनौतियां आएंगी। इसलिए चुनौतियों से भागे नहीं।

लोग लगातार सफलता का पीछा भी कर रहे हैं।

आप कोई भी हो सकते हैं, जैसे उद्यमी, विद्यार्थी, कलाकार, खिलाड़ी या कोई और लेकिन सभी का लक्ष्य अपने जीवन में सफल होना है। हममें से अधिकतर लोग लगातार सफलता का पीछा भी कर रहे हैं। सभी सफल लोगों में कुछ आदतें एक जैसी होती हैं, जो आपको भी जीवन में आगे बढ़ने में मदद कर सकती हैं। इनमें से कुछ आदतें हम आज आपको बता रहे हैं।

डर को हावी नहीं होने दें : कुछ चीजों से डरना सही है लेकिन डर को अपने जीवन पर हावी नहीं होने दें। सफलता के मार्ग में आने वाली कुछ रुकावटों में से डर भी एक है। इसीलिए सबसे पहले अपने डर की वजहों को समझें और फिर उनका निदान कर उससे दूर हो जाएं। इससे आप तेजी से अपने लक्ष्य की ओर बढ़ेंगे।

कोई विफलता अंतिम नहीं होती : अपने लक्ष्य की बढ़ते समय हमें कई बार विफलता का सामना करना पड़ता है। यह बहुत बुरा अनुभव होता है लेकिन विफलता हमें हर बार कुछ न कुछ सिखा कर जाती है। इसलिए विफल होने पर परेशान होने की बजाए उससे मिले सबक के लिए आनंद कीजिए। विफलताओं से लगातार सीखना जारी रखिए और एक दिन ये विफलताओं से मिले सबक ही आपको सफलता का स्वाद चखाएंगे।

सकारात्मकता और नकारात्मकता को एक तरह से लीजिए : अगर कोई व्यक्ति आपके सिर्फ सकारात्मक पक्ष के बारे में ही बात करता है तो वह व्यक्ति आपकी अधिक मदद नहीं कर रहा है। आपके नकारात्मक पक्ष बताने वाले लोगों की भी बात उतने ही धैर्य से सुननी चाहिए जितने धैर्य से सकारात्मक पक्ष बताने वालों की बात सुनी थी। आपकी कमजोरियों को बताकर सही मायने में यही आपके हितैषी हैं।

नेता बनें, तानाशाह नहीं : तानाशाह लोगों को काम करने का आदेश देते हैं। नेता लोगों को काम करने की वजह बताते हैं। अगर आप लोगों का नेता के तौर पर नेतृत्व करेंगे तो सफल होंगे। तानाशाह अंत में विफल होते ही हैं। नेतृत्व करना कौशल नहीं बल्कि एक कला है। जितनी जल्दी आप इस कला में पारंगत होते हैं, उतनी ही जल्दी आपको सफलता मिलती है।

जो मन में आए पूछो : सफलता के लिए आपके पास हर तरह की जानकारी होनी चाहिए। इसका सबसे बेहतर उपाय है कि आप जिनते अधिक सवाल पूछ सकते हो, पूछो। जब तक प्रश्न नहीं पूछे जाएंगे, आपकी शंका का समाधान नहीं हो पाएगा और आप अपने लक्ष्य से दूर होते चले जाओगे। इसलिए सवाल पूछे में कभी भी झिझकिए नहीं।

संतुष्टि को दूर भाएं : कई बार हम लक्ष्य को छूते ही संतुष्ट हो जाते हैं और आगे बढ़ने के बारे में नहीं सोचते। 99 फीसद लोग इसी तरह के हैं और यही वजह है कि दुनिया के एक फीसद में शामिल नहीं हैं। कुछ लोग बड़ा खिलाड़ी बनना चाहते हैं और कुछ पदक या ट्रॉफी जीतने के बाद खुद को रोक लेते हैं क्योंकि वे संतुष्ट हो जाते हैं। सफलता प्राप्त करने के लिए जरूरी है कि आप संतुष्टि को दूर भगाएं।

हर सुबह खुद अपना लक्ष्य याद दिलाएं : अधिकतर लोग सफलता के मार्ग पर चलते-चलते अचानक भटक जाते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि आप हर रोज खुद को उस मार्ग के बारे में याद दिलाते रहें। इसके लिए हर सुबह अपने लक्ष्य के बारे में खुद को बताना बेहतर रहता है। इससे आप अपने दिन की योजना उसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए ही बनाएंगे और आपका दिमाग इधर-उधर नहीं भटकेगा।

चुनौतियों से भागें नहीं : आपका लक्ष्य जितना ऊंचा होगा, उसको प्राप्त करने के मार्ग में उतनी ही अधिक चुनौतियां आएंगी। इसलिए चुनौतियों से भागे नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

<!–

–>

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

आज का पंचांग, 05 दिसंबर 2019: शुभ रवि योग के साथ जानिए आज दिन के सभी मुहूर्त और राहुकाल का टाइम

Hindi News Religion आज का पंचांग, 05 दिसंबर 2019: शुभ रवि योग के साथ जानिए आज दिन के सभी मुहूर्त और राहुकाल का टाइम Today Panchang 2019 in Hindi, Aaj Ka Panchang in Hindi, Panchang 5 December 2019: अभिजित मुहूर्त – 11:50 ए एम से 12:32 पी एम, अमृत काल – […]