रामदेव की पतंजलि को बैंकों से मिला 3200 करोड़ रुपये का लोन, SBI ने सबसे अधिक दिया 1200 करोड़

digamberbisht

पतंजलि आयुर्वेद के प्रबंध निदेशक आचार्य बालकृष्णा ने एक बयान में कहा कि कंपनी ने भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले बैंकों के समूह के साथ जरूरी कुल कर्ज की व्यवस्था कर ली है।

एनसीएलटी ने सितंबर में रूचि सोया के अधिग्रहण को लेकर पतंजलि आयुर्वेद की योजना को मंजूरी दी थी। (फाइल फोटो)

बाबा रामदेव की अगुवाई वाली पतंजलि आयुर्वेद ने शुक्रवार को कहा कि उसने ऋण शोधन प्रक्रिया के जरिये रूचि सोया के अधिग्रहण के लिये भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले बैंकों के समूह के साथ 3,200 करोड़ रुपये के कर्ज की व्यवस्था की है।

राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) ने सितंबर में रुचि सोया के अधिग्रहण को लेकर पतंजलि आयुर्वेद की समाधान योजना को मंजूरी दी थी। पतंजलि आयुर्वेद के प्रबंध निदेशक आचार्य बालकृष्णा ने एक बयान में कहा कि कंपनी ने भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले बैंकों के समूह के साथ जरूरी कुल कर्ज की व्यवस्था कर ली है।

कंपनी के अनुसार उसे एसबीआई से 1,200 करोड़ रुपये, पंजाब नेशनल बैंक से 700 करोड़ रुपये, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया 600 करोड़ रुपये, सिंडिकेट बैंक 400 करोड़ रुपये और इलाहबाद बैंक से 300 करोड़ रुपये मिले हैं। रुचि सोया दिसंबर 2017 में ऋण शोधन प्रक्रिया में गयी थी।

मालूम हो कि रुचि सोया दिसंबर 2017 में दिवालिया प्रक्रिया में शामिल हुई थी। एनसीएलटी ने इस मामले में स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक और डीएसबी बैंक की पहल के बाद दिवाला संबंधी याचिका स्वीकार की थी। रुचि सोया ने एनसीएलटी को कहा था कि पतंजलि समूह रोजोल्यूशन प्लान के तहत 204.75 करोड़ रुपये की इक्विटी डालेगा और 3233.36 करोड़ रुपये कर्ज के रूप में होंगे।

इससे पहले इस साल 30 अप्रैल को कर्जदाताओं के समिति ने रुचि सोया के अधिग्रहण संबंधी पतंजलि समूह की 4350 करोड़ रुपये के रोजोल्यूशन प्लान को स्वीकार कर लिया था। वहीं कुछ दिन पहले भी मीडिया रिपोर्ट में कहा गया था कि एसबीआई ने पतंजलि आयुर्वेद को अकेले लोन की राशि देने से इनकार कर दिया है।

रिपोर्ट्स में बैंक अधिकारी के हवाले से पतंजलि समूह से जुड़ी वित्तीय सूचनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं होने के साथ ही इसके मल्टीनेशनल नहीं होने की बात को भी कहा गया था। इसके बाद पतंजलि समूह ने कहा था कि वह फंड के लिए वैकल्पिक उपायों पर विचार कर रही है।
[embedded content]

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

<!–

–>

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

BJP पर बरसे CPI नेता अतुल अंजान, कहा- ‘बड़ी बड़ी बातों के चक्कर में छोटी भी गई, पतलून की चाहत में लंगोटी भी गई’

Hindi News राष्ट्रीय BJP पर बरसे CPI नेता अतुल अंजान, कहा- ‘बड़ी बड़ी बातों के चक्कर में छोटी भी गई, पतलून की चाहत में लंगोटी भी गई’ जीडीपी के मुद्दे पर आज तक (Aaj Tak Live Debate) चैनल के शो दंगल (Dangal) पर एक डिबेट की गई। जिसमें सीपीआई नेता अतुल […]