इन पांच चेहरों पर टिका है उद्धव ठाकरे की गठबंधन सरकार का दारोमदार, बेटे आदित्य से लेकर सेक्रेटरी तक शामिल

digamberbisht

इन चेहरों में सीएम के बेटे आदित्य ठाकरे के अलावा, पार्टी विधायक दल के नेता चुने गए एकनाथ शिंदे, शिवसेना नेता सुभाष देसाई, पार्टी प्रवक्ता संजय राउत और पार्टी के सचिव मिलिंद नारवेकर शामिल हैं।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, बेटे आदित्य ठाकरे और पत्नी रश्मि ठाकरे के साथ। (एक्सप्रेस फोटो)

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे विधानमंडल के किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं। बावजूद उन्होंने पहली बार राज्य की सत्ता की बागडोर संभाली है। अब तक वो शिवसेना की कमान संभालते रहे हैं लेकिन अब उन्हें सरकार और संगठन दोनों को संभालना है। ऐसे में उनके ऊपर जिम्मेदारियां बढ़ गई हैं। उद्धव ने इसके लिए अपने विश्वस्तों की एक कोर कमेटी बनाई है, जो उन्हें सरकार और संगठन के बीच कामकाज करने में सहयोग करेंगे। इसता ही नहीं तीन दलों की साझा सरकार में गठबंधन सहयोगियों के बीच भी ये टीम सेतुबंध का काम करेगी। इन चेहरों में सीएम के बेटे आदित्य ठाकरे के अलावा, पार्टी विधायक दल के नेता चुने गए एकनाथ शिंदे, शिवसेना नेता सुभाष देसाई, पार्टी प्रवक्ता संजय राउत और पार्टी के सचिव मिलिंद नारवेकर शामिल हैं।

आदित्य ठाकरे: आदित्य पहली बार विधान सभा पहुंचे हैं। वो ठाकरे परिवार के पहले ऐसे शख्स हैं जिन्होंने पहली बार विधान सभा चुनाव लड़ा है। वर्ली से शिवसेना के विधायक आदित्य इससे पहले सेना के युवा विंग का कामकाज संभालते रहे हैं। चुनावों से पहले उन्होंने राज्यभर की यात्राएं की थीं और संगठन को मजबूत किया था। आदित्य पिता को सलाह देते रहे हैं। राज्य में सिंगल यूज प्लास्टिक पर बैन लगाने का सुझाव आदित्य का ही था। मौजूदा सरकार में भी वो सीएम पिता के सलाहकार के तौर पर देखे जा सकते हैं। पिता की गैर मौजूदगी में आदित्य पार्टी का कामकाज देख सकते हैं।

एकनाथ शिंदे: चुनाव नतीजों के बाद शिवसेना विधायकों की पहली बैठक में एकनाथ शिंदे को ही विधायक दल का नेता चुना गया था। शिंदे उद्धव सरकार में मंत्री बनाए गए हैं। उन्हें सरकार के कामकाज और विधानसभा में फ्लोर मैनेजमेंट का काम सौंपा गया है। पार्टी के अंदर भी शिंदे की बात को खास तवज्जो दी जाती रही है। पार्टी कैडर को संभालने की जिम्मेदारी एकनाथ शिंदे के कंधों पर ही है।

सुभाष देसाई: देसाई उन छह मंत्रियों में शामिल हैं, जिन्होंने उद्धव ठाकरे के साथ शपथ ग्रहण किया है। वो महाराष्ट्र विधान परिषद के सदस्य हैं। इससे पहले वो गोरेगांव से तीन बार विधायक रहे हैं। 77 साल के देसाई उद्धव ठाकरे के विश्वस्त लोगों में शामिल हैं। पिछली सरकार में ये उद्योग मंत्री रह चुके हैं। मौजूदा समय में देसाई सीएम उद्धव ठाकरे को गवर्नेंस और पॉलिसी से संबंधित मुद्दों पर सुझाव देंगे। इसके अलावा सीएम की गैर मौजूदगी या उनके प्रतिनिधि के तौर पर देसाई को अलग-अलग समारोहों और प्रतिनिधिमंडल से बातचीत की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

<!–

–>

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

प्रियंका को फर्स्ट वेडिंग एनिवर्सरी पर मिली खुशखबरी, 'माराकेच' में सम्मानित की जाने वाली पहली भारतीय

बॉलीवुड डेस्क.वेडिंगएनिवर्सरी से पहले ही प्रियंका चोपड़ा को एक बड़ी खुशखबरी मिली। माराकेच इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ने उनकी उपलब्धियों को सेलिब्रेट करते हुए उनको सम्मानित करने की घोषणा की है। उनको यह ट्रिब्यूट ऐतिहासिक स्थल जेमा एल फना स्क्वायर में दिया जाएगा। यह पहला मौका है जब किसी इंडियन सेलिब्रिटी […]