प्रणब मुखर्जी ने कहा- जीडीपी के साथ ग्रॉस हैप्पीनेस भी अहम, दुनियाभर में इस पर चर्चा हो रही

digamberbisht

नई दिल्ली.पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भूटान की तर्ज पर देश में ग्रॉस हैप्पीनेस पर बल दिया। उन्होंने कहा कि ग्रॉस हैप्पीनेस भी ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (जीडीपी) से कम नहीं है। इसका मूल आधार शिक्षा है। वे शिक्षक दिवस के मौके पर गुरुवार को दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की किताब ‘शिक्षा’ के विमोचन कार्यक्रम में शामिल हुए थे।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी। -फाइल

पूरी खबर के लिए यहां क्लिक करें

Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

बिना अनुमति के निकाला जुलूस, अभाविप प्रत्याशी, दर्जाधारी मंत्री समेत 700-800 छात्रों पर केस

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Fri, 06 Sep 2019 10:02 AM IST ख़बर सुनें सत्ताधारी दल से जुड़े अभाविप (अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्) कार्यकर्ताओं ने बृहस्पतिवार को पुलिस की एक नहीं सुनी। पुलिस के बार-बार मना करने पर भी कार्यकर्ताओं ने बिना अनुमति के शहर में जुलूस निकालकर लिंग […]