70 साल के हुए राकेश रोशन, बेटे ऋतिक और भाई राजेश ने शेयर की उनकी जिंदगी से जुड़ी खास बातें

digamberbisht

बॉलीवुड डेस्क. वेटरन एक्टर और फिल्ममेकर राकेश रोशन 70 साल के हो गए हैं। उनका जन्म 6 सितंबर 1949 को हुआ था। वो करीब 49 साल से फिल्मों में एक्टिव हैं। राकेश के 70वें जन्मदिन के अवसर पर उनके बेटे ऋतिक और भाई राजेश ने उनकी जिंदगी से जुड़ी खास बातें शेयर की।

  1. पापा मुझे हमेशा एक रिस्पॉन्सिबल इंसान बनने की सीख देते रहे हैं। वह मुझे ‘पहले डिजर्व करो फिर डिजायर’ वाली कार्यप्रणाली अपनाने की नसीहत देते रहे हैं। किशोरावस्था में मेरी हेल्थ को देखते हुए भविष्यवाणी की गई थी कि मैं एक्टर नहीं बन सकता। उसे पापा द्वारा दी गई सीख के दम पर ही मैं झुठला पाया।

    जब शुरुआत कर रहा था तो पापा ने मेरे सामने एक बड़ा चैलेंज रख दिया, अपनी पहली ही फिल्म में डबल रोल करने का। उनका अपनों को संवारने का यही तरीका रहा है। वह चैलेंज सामने रखते हैं और उसे स्वीकार करने के क्रम में इंसान बेहतर से बेहतर होता जाता है। उनकी वजह से ही मैं फिल्ममेकिंग के पूरे क्राफ्ट में इन्वॉल्व होता हूं। मैं एक्टिंग के अलावा एडिटिंग और वीएफएक्स से लेकर बाकी तकनीकी पक्षों पर भी काफी काम करता हूं। खुद को उसमें इन्वॉल्व रखता हूं।

    ऋतिक रोशन और राकेश रोशन।

    पापा का सिनेमा सेंस बहुत कमाल का रहा है। ‘काइट्स’ में किरदारों के डायलॉग्स अंग्रेजी में ज्यादा थे। तब पापा ने समझाया था कि हम लोग गलत कर रहे हैं। हिंदी फिल्मों का दर्शक केवल हिंदी समझता है, लेकिन मुझे लग रहा था कि अगर मेरा किरदार अंग्रेजी में बात करे तो वह ईमानदार होगा। उस चक्कर में मैं गलती कर बैठा। हम यह भी सोच रहे थे कि अगर हम अंग्रेजी में फिल्म बना लेंगे तो हमारे दर्शक बढ़ जाएंगे। जब फिल्म नहीं चली, तब पापा की बात पल्ले पड़ी।

    उन्होंने बचपन में मुझे एक बात समझाई थी कि अगर लोगों को मैसेज ही देना है तो फिल्में मत बनाना, डॉक्युमेंट्री बनाना। फिल्मों का बुनियादी मकसद लोगों को एंटरटेन करना होता है।

  2. राकेशजी एक सच्चे फाइटर हैं। उन पर जब अंडरवर्ल्ड के अपराधियों ने हमला किया था, तब गोली छाती में धंसकर हार्ट के पास जाकर रुकी थी। ऐसी स्थिति में भी गिरकर बेहोश होने की बजाय वे उन हमलावरों के पीछे चिल्लाते हुए दौड़ पड़े थे। हॉस्पिटल जाने की बजाय वे पुलिस स्टेशन गए और चिल्लाकर उन अपराधियों का पीछा करने के लिए कहा। उनमें अद्भुत शक्ति है। वे सैनिक स्कूल सातारा में पढ़े हैं। वहां उन्होंने बहुत स्ट्रिक्ट लाइफ देखी है। सुबह चार बजे उठकर एक मील दौड़ लगाना उनकी पीटी क्लास में शामिल था। सारा दिन बॉक्सिंग, गेम्स, हॉर्स राइडिंग में गुजरता था। उन्होंने पूरी फौजी की तालीम हासिल की है।

    राकेश रोशन और राजेश रोशन।

    काम के वक्त हम दोनों भाई काफी सीरियस होते हैं। वे मेरे और मैं उनका क्रिटिक बन जाता हूं। कभी-कभी हमारे बीच जमकर बहस भी होती है। इस दौरान हम दोनों को एक रास्ता नजर आता है और हम उस पर चल पड़ते हैं। बचपन से ही राकेशजी खूब शरारती और मजाकिया स्वभाव के थे। सारा दिन दोस्तों का जमघट लगा रहता था। धीरे-धीरे उनमें गंभीरता और संजीदगी आ गई। वे कामकाज पर अधिक ध्यान देने लगे। शायद कामयाबी हासिल करने का राज वह समझ चुके हैं।

    बचपन में वे दोस्तों के साथ जन्मदिन मनाना पसंद करते थे। मैं जिद करता था कि मुझे भी उनके साथ जाना है। वे इस बात से बहुत परेशान रहते थे और मम्मी से शिकायत करते थे। इससे हमारे बीच खूब लड़ाई होती थी और फिर मुझे घर में ही रहना पड़ता था। राकेश जी भले ही म्यूजिक कंपोज नहीं करते हों, पर उनको म्यूजिक की बहुत ज्यादा समझ है। डायरेक्टर होने के नाते वे पब्लिक की नब्ज बखूबी समझते हैं। कई बार वे गाकर मुझे सही राह दिखाते हैं। इसके अलावा उनको काव्य की भी बहुत अच्छी समझ है। उनके बर्थडे पर रात में हमलोग एक साथ पार्टी करते हैं। उनके चहेते दोस्तों को भी आमंत्रित करते हैं। खूब मजा आता है। इस पार्टी में हमलोग ज्यादातर पिछले दिनों को याद करते हैं।

    (जैसा कि उन्होंने उमेश उपाध्याय को बताया।)

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

      राकेश रोशन बेटे ऋतिक और भाई राजेश के साथ।

      पूरी खबर के लिए यहां क्लिक करें

      Uttarakhand News Latest and breaking Hindi News , Uttarakhand weather, Places to visit in Uttarakhand जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें ।
Next Post

उत्तराखंडः सैन्यकर्मी पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज, चार साल से शादी का झांसा देने का आरोप

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, बागेश्वर Updated Fri, 06 Sep 2019 12:29 PM IST ख़बर सुनें बागेश्वर के काफलीगैर में एक सैन्यकर्मी पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप है कि सैन्यकर्मी राकेश कुमार चार साल से शादी का झांसा देकर दुष्कर्म कर रहा था। जब उसने शादी के […]